Featured Posts

Most selected posts are waiting for you. Check this out

ज्ञान और विज्ञान एक साथ

पहली भारतीय महिला बैरिस्टर कॉर्नेलिया सोराबजी।

पहली भारतीय महिला बैरिस्टर कॉर्नेलिया सोराबजी।

Incredible Indian lady Cornelia Sorabjee


पहली भारतीय महिला बैरिस्टर कॉर्नेलिया सोराबजी। First Indian woman barrister Cornelia Sorabjee।

कॉर्नेलिया सोराबजी (15 नवंबर 1866 - 6 जुलाई 1954) एक भारतीय महिला थी, जो बॉम्बे विश्वविद्यालय से पहली महिला स्नातक, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में कानून का अध्ययन करने वाली पहली महिला थी (वास्तव में, किसी भी ब्रिटिश विश्वविद्यालय में अध्ययन करने वाली पहली भारतीय राष्ट्रीय), भारत में पहली महिला वकील, और भारत और ब्रिटेन में कानून का अभ्यास करने वाली पहली महिला। 2012 में, लंदन के लिंकन इन में उनकी प्रतिमा का अनावरण किया गया था। 
मौलाना अबुल कलाम आजाद के प्रसिद्ध वचन और विचार।

मौलाना अबुल कलाम आजाद के प्रसिद्ध वचन और विचार।

Maulana Abul Kalam Azad Quotes in Hindi


मौलाना अबुल कलाम आजाद के प्रसिद्ध वचन और विचार। Maulana Abul Kalam Azad inspiring Quotes In Hindi

अब्दुल कलाम मुहियुद्दीन अहमद आजाद एक भारतीय राष्ट्रवादी थे जिन्होंने मुस्लिमों को स्वतंत्रता संग्राम में शामिल करने के लिए इंजीनियर बनाया और यहां तक ​​कि उत्तर भारत के राज्यों को भी इसमें शामिल करने के लिए प्रेरित किया। उनका राजनीतिक कौशल साबित हुआ जब उन्हें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में नामित किया गया। वह देश की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी की अध्यक्षता ग्रहण करते समय केवल 35 वर्ष के थे। 11 नवंबर, स्वतंत्र भारत के पहले शिक्षा मंत्री, मौलाना अबुल कलाम आजाद का जन्मदिन देश में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है। वह सबसे प्रमुख चेहरों में से एक थे जिन्होंने विभाजन का विरोध किया था क्योंकि उन्होंने हमेशा भारत और पाकिस्तान के लिए एक एकीकृत राष्ट्र का सपना देखा था।

1. As a child of God, I am greater than anything that can happen to me।
ईश्वर के एक संतान के रूप में, मैं जो कुछ भी हो सकता हूँ उससे कहीं बड़ा हूं।
 मौलाना अबुल कलाम आजाद।

2. You have to dream before your dreams can come true.
अपने सपनों के सच होने से पहले आपको सपना देखना होगा।
  मौलाना अबुल कलाम आजाद।

3. Slavery is worst even if it bears beautiful names.
दासता बहुत ही बुरी होती है, भले ही इसका नाम कितना ही सुंदर क्यों न हो।
  मौलाना अबुल कलाम आजाद।

4. Educationists should build the capacities of the spirit of inquiry, creativity, entrepreneurial and moral leadership among students and become their role model.
शिक्षाविदों को छात्रों के बीच जांच की भावना, रचनात्मकता, उद्यमशीलता और नैतिक नेतृत्व की क्षमताओं का निर्माण करना चाहिए और उनका आदर्श बन जाना चाहिए।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

5. Education imparted by heart can bring revolution in the society.
दिल से दी गई शिक्षा समाज में क्रांति ला सकती है।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

6. Climbing to the top demands strength, whether it is to the top of Mount Everest or to the top of your career.
शीर्ष तक पहुँचने के लिए ताकत चाहिए होती है, चाहे वो माउन्ट एवरेस्ट का शिखर हो या आपके पेशे का।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

7. Many people plant trees but few of them get fruit of it.
बहुत सारे लोग पेड़ लगाते हैं, लेकिन उनमें से कुछ को ही उसका फल मिलता है।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

8. Be more dedicated to making solid achievements than in running after swift but synthetic happiness.
कृत्रिम सुख की बजाये ठोस उपलब्धियों के पीछे समर्पित रहिये।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

9. The minute I heard my first love story, I started looking for you, not knowing how blind that was. Lovers don't finally meet somewhere. They're in each other all along.
जिस समय मैंने मेरी पहली प्रेम कहानी सुनी, मैंने आपकी तलाश शुरू कर दी, यह नहीं पता था कि वह कैसे अंधा था। प्रेमी अंततः कहीं नहीं मिलते हैं वे एक-दूसरे में ही साथ में हैं
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

10. Teaching by tongue can be perspired but by good deed can stay stronger.
जीब आधारित शिक्षण से पसीना बहा सकते हैं लेकिन अच्छे काम से मजबूत रह सकते हैं।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

11. Great dreams of great dreamers are always transcended।
महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पार हो जाते हैं।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

12. We have not invaded anyone. We have not conquered anyone. We have not grabbed their land, their culture, their history and tried to enforce our way of life on them.
हमने किसी पर आक्रमण नहीं किया है। हमने किसी पर विजय प्राप्त नहीं की है। हमने उनकी भूमि, उनकी संस्कृति, उनके इतिहास पर कब्ज़ा नहीं किया है और ना ही अपने जीने का तरीका उन पर थोपने का प्रयास किया है।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

13. To succeed in your mission, you must have single-minded devotion to your goal.
अपने लक्ष्य में सफल होने के लिए, आपको अपने लक्ष्य के प्रति एकचित्त दृढ़ होना पड़ेगा।
   मौलाना अबुल कलाम आजाद।

14. Do we not realize that self respect comes with self reliance?
क्या हमें यह नहीं पता कि आत्म सम्मान आत्म निर्भरता के साथ आता है?

  मौलाना अबुल कलाम आजाद।


********************************************************
मौलाना अबुल कलाम आजाद के प्रसिद्ध वचन और विचार। पर यह लेख आपको कैसा लगा? कृपया कमेन्ट के माध्यम से बताएँ. लेख में कोई त्रुटि या गलती होने पर हमसे संपर्क करें।
********************************************************
                        
अगर आपके पास भी कोई स्टोरी, आर्टिकल या किसी भी विषय पर जानकारी है तो आप उसे हमारे साथ शेयर करें। पोस्ट के साथ अपने फोटो और ईमेल करें। हमारी ईमेल Id Officialjugnunagar@Gmail.com । अगर हमें आपकी पोस्ट पसंद आई तो हम उसे आपके फोटो और नाम के साथ ज्ञानबाज़ार पर पब्लिश करेंगे।

दोस्तों हमें एक पोस्ट लिखने में काफी मेहनत और समय लगता हैं आप इस पोस्ट के ऊपर अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे।
भारत की पहली महिला संघ नेता अनसूया साराभाई।

भारत की पहली महिला संघ नेता अनसूया साराभाई।

Anusuya Sarabhai Biography In Hindi


भारत की पहली महिला संघ नेता अनसूया साराभाई। - Anusuya Sarabhai, India's First Women's Union Leader।

अनसूया साराभाई (1885 - 1972) भारत में स्त्री श्रम आन्दोलन की अग्रदूत थीं। उन्होने 1920 में अहमदाबाद में मजदूर महाजन संघ की स्थापना की जो भारत की जो भारत के टेक्सटाइल श्रमिकों का सबसे पुराना संघ था।
जवाहरलाल नेहरू जी के प्रसिद्ध अनमोल वचन।

जवाहरलाल नेहरू जी के प्रसिद्ध अनमोल वचन।

Jawaharlal Nehru Famous Quotes In Hindi

जवाहरलाल नेहरू जी के प्रसिद्ध अनमोल वचन। Jawaharlal Nehru Famous Quotes In Hindi।


1. We live in a wonderful world that is full of beauty, charm and adventure. There is no end to the adventures that we can have if only we seek them with our eyes open.

हम एक अद्भुत दुनिया में रहते हैं जो सुंदरता, आकर्षण और रोमांच से भरी है। उन रोमांचों का कोई अंत नहीं है, जो हमारे पास हो सकते हैं यदि हम उन्हें अपनी खुली आंखों के साथ देखें।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू
2. Failure comes only when we forget our ideals and objectives and principles.

असफलता तब होती है जब हम अपने आदर्शों और उद्देश्यों और सिद्धांतों को भूल जाते हैं।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

3. Culture is the widening of the mind and of the spirit.

संस्कृति मन और आत्मा का विस्तार है।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

4. The art of a people is a true mirror to their minds.

लोगों की कला उनके दिमागों के लिए एक सच्चे दर्पण है।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

5. Life is like a game of cards. The hand you are dealt is determinism; the way you play it is free will.

जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है. आपके हाथ में जो है वह नियति है , जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

6. What we really are matters more than what other people think of us.

हम वास्तविकता में क्या हैं वो और लोग हमारे बारे में क्या सोचते हैं उससे कहीं अधिक मायने रखता है.

- पंडित जवाहरलाल नेहरू

7. Facts are facts and will not disappear on account of your likes.

तथ्य तो तथ्य हैं और आपके पसंद न करने से गायब नहीं हो जायेंगे.

- पंडित जवाहरलाल नेहरू

8. Without peace, all other dreams vanish and are reduced to ashes.

शांति के बिना, अन्य सभी सपने गायब हो जाते हैं और राख में मिल जाते हैं।

- पंडित जवाहरलाल नेहरू

9. Citizenship consists in the service of the country.

नागरिकता देश की सेवा में शामिल है।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

10. Peace is not a relationship of nations. It is a condition of mind brought about by a serenity of soul. Peace is not merely the absence of war. It is also a state of mind.

शांति राष्ट्रों का संबंध नहीं है यह एक मन: स्थिति है जो आत्मा की  निर्मलता से आती है। शांति केवल युद्ध की अनुपस्थिति नहीं है यह मन की अवस्था भी है।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

11. Loyal and efficient work in a great cause, even though it may not be immediately recognized, ultimately bears fruit.

वफादार और कुशल महान कारण के लिए कार्य करते हैं, भले ही उन्हें तुरंत पहचान ना मिले, अंततः उसका फल मिलता है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

12. Democracy and socialism are means to an end, not the end itself.

लोकतंत्र और समाजवाद लक्ष्य पाने के साधन है, स्वयम में लक्ष्य नहीं.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

13. Ignorance is always afraid of change.

अज्ञान हमेशा परिवर्तन से डरता है।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

14. You don't change the course of history by turning the faces of portraits to the wall.

दीवारों के चित्रों के चेहरे को बदलकर आप इतिहास के पाठ्यक्रम को बदल नहीं सकते हैं।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

15. Obviously, the highest type of efficiency is that which can utilize existing material to the best advantage.

जाहिर है, दक्षता का सबसे अच्छा प्रकार वह है जो मौजूदा सामग्री का अधिकतम लाभ उठा सके.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

16. Every little thing counts in a crisis.

हर छोटी बात संकट में अहम् होती है।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

17. The policy of being too cautious is the greatest risk of all.

अत्यधिक सतर्क रहने की नीति सबसे बड़ा खतरा है।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

18. I have become a queer mixture of the East and the West, out of place everywhere, at home nowhere.

मैं पूर्व और पश्चिम का एक विचित्र मिश्रण बन चुका हूं, हर जगह बेमेल, घर पर कहीं का नहीं।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

19. A theory must be tempered with reality.

एक सिद्धांत को वास्तविकता के साथ प्रस्तुत किया जाना चाहिए.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

20. Time is not measured by the passing of years but by what one does, what one feels, and what one achieves.

समय वर्षों के बीतने से नहीं मापा जाता बल्कि किसी ने क्या किया, क्या महसूस किया , और क्या प्राप्त किया इससे मापा जाता है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

21. Great causes and little men go ill together.

महान कार्य और छोटे लोग का एक दूसरे से कोई मेल नहीं होता।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

22. To be in good moral condition requires at least as much training as to be in good physical condition.

अच्छी नैतिक स्थिति में होना कम से कम उतना ही परिश्रम मांगता है जितना कि अच्छी शारीरिक स्थिति में होना.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

23. The person who talks most of his own virtue is often the least virtuous.

जो व्यक्ति अधिकांश अपने ही गुणों का बखान करता रहता है वो अक्सर सबसे कम गुनी होता है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

24. Action to be effective must be directed to clearly conceived ends.

कार्य के प्रभावी होने के लिए उसे स्पष्ठ लक्ष्य की तरफ निर्देशित किया जाना चाहिए.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

25. There is perhaps nothing so bad and so dangerous in life as fear.

शायद जीवन में डर से बुरा और खतरनाक कुछ भी नहीं है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

26. The only alternative to coexistence is codestruction.

सह-अस्तित्व का एकमात्र विकल्प सह- विनाश है।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

27. The person who runs away exposes himself to that very danger more than a person who sits quietly.

जो व्यक्ति भाग जाता है वह शांत बैठे व्यक्ति की तुलना में अधिक खतरे में पड़ जाता है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

28. The man who has gotten everything he wants is all in favor of peace and order.

जो व्यक्ति जो सबकुछ पा चुका है वह हर एक चीज शांति और व्यवस्था के पक्ष में चाहता है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

29. Let us be a little humble; let us think that the truth may not perhaps be entirely with us.

हमें थोडा विनम्र रहना चाहिए; हमें ये सोचना चाहिए कि शायद सत्य पूर्ण रूप से हमारे साथ ना हो.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

30. It is only too easy to make suggestions and later try to escape the consequences of what we say.

सुझाव देना और बाद में हमने जो कहा उसके परिणाम से बचने का प्रयत्न करना बेहद सरल है
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

31. Action itself, so long as I am convinced that it is right action, gives me satisfaction.

जब तक मैं स्वयं में संतुष्ट हूँ की मेरा किया गया काम सही काम है तब तक मुझे संतुष्टि रहती है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

32. Our chief defect is that we are more given to talking about things than to doing them.

हमारे अन्दर सबसे बड़ा प्रमुख दोष यह है कि हम चीजों के बारे में बात ज्यादा करते हैं और काम कम.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

33. Socialism is... not only a way of life, but a certain scientific approach to social and economic problems.

समाजवाद ना केवल जीने का तरीका है, बल्कि सामजिक और आर्थिक समस्यों के निवारण के लिए एक वैज्ञानिक दृष्टिकोण है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

34. The purely agitation attitude is not good enough for a detailed consideration of a subject.

पूर्ण रूप से आन्दोलनकारी रवैया किसी विषय के गहन विचार के लिए ठीक नहीं है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

35. The forces in a capitalist society, if left unchecked, tend to make the rich richer and the poor poorer.

यदि पूंजीवादी समाज की शक्तियों को अनियंत्रित छोड़ दिया जाए तो वो अमीर को और अमीर और गरीब को और गरीब बना देंगी.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

36. Crises and deadlocks when they occur have at least this advantage, that they force us to think.

संकट और गतिरोध जब वे होते हैं तो कम से कम उनका एक फायदा होता है कि वे हमें सोचने पर मजबूर करते हैं.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

37. Democracy is good. I say this because other systems are worse.

लोकतंत्र अच्छा है मैं यह कहता हूं क्योंकि अन्य सिस्टम बदतर हैं।
- पंडित जवाहरलाल नेहरू

38.It is the habit of every aggressor nation to claim that it is acting on the defensive.

हर एक हमलावर राष्ट्र की यह दावा करने की आदत होती है कि वह अपनी रक्षा के लिए कार्य कर रहा है.
- पंडित जवाहरलाल नेहरू


********************************************************
जवाहरलाल नेहरू जी के प्रसिद्ध अनमोल वचन। पर यह लेख आपको कैसा लगा? कृपया कमेन्ट के माध्यम से बताएँ. लेख में कोई त्रुटि या गलती होने पर हमसे संपर्क करें।
********************************************************
                        
अगर आपके पास भी कोई स्टोरी, आर्टिकल या किसी भी विषय पर जानकारी है तो आप उसे हमारे साथ शेयर करें। पोस्ट के साथ अपने फोटो और ईमेल करें। हमारी ईमेल Id Officialjugnunagar@Gmail.com । अगर हमें आपकी पोस्ट पसंद आई तो हम उसे आपके फोटो और नाम के साथ ज्ञानबाज़ार पर पब्लिश करेंगे।

दोस्तों हमें एक पोस्ट लिखने में काफी मेहनत और समय लगता हैं आप इस पोस्ट के ऊपर अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे।
नियति से साक्षात्कार नेहरू जी का महानतम भाषण।Tryst with Destiny

नियति से साक्षात्कार नेहरू जी का महानतम भाषण।Tryst with Destiny

'Tryst with Destiny Incredible speech by Jawahar Lal Nehru Ji
'

नियति से साक्षात्कार नेहरू जी महानतम भाषण। Greatest speech from Nehru ji Tryst with Destiny

भारत की स्वतंत्रता की पूर्व संध्या पर, 15 अगस्त 1947 को मध्यरात्रि के लिए, संसद में भारतीय संविधान सभा में स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा "Tryst with Destiny" एक भाषण दिया गया था। यह उन पहलुओं पर केंद्रित है जो भारत के इतिहास को पार करें यह 20 वीं शताब्दी के सबसे बड़े भाषणों में से एक माना जाता है और भारत में ब्रिटिश साम्राज्य के खिलाफ बड़े पैमाने पर अहिंसक भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के विजयी परिणति के सार को प्राप्त करने वाला एक महत्वपूर्ण वचन है।
प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू जी की जीवनी एवं निबंध।BIOGRAPHY

प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू जी की जीवनी एवं निबंध।BIOGRAPHY

First Indian Prime Minister P.Jawahar Lal Nehru Biography In Hindi


प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू जी की जीवनी एवं निबंध। First Prime India Minister Pandit Jawahar Lal Nehru Biography In Hindi।


जवाहरलाल नेहरू (नवंबर 14, 1889 - मई 27, 1964) भारत के प्रथम प्रधानमन्त्री थे और स्वतन्त्रता के पूर्व और पश्चात् की भारतीय राजनीति में केन्द्रीय व्यक्तित्व थे। महात्मा गांधी के संरक्षण में, वे भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के सर्वोच्च नेता के रूप में उभरे और उन्होंने 1947 में भारत के एक स्वतन्त्र राष्ट्र के रूप में स्थापना से लेकर 1964 तक अपने निधन तक, भारत का शासन किया। वे आधुनिक भारतीय राष्ट्र-राज्य – एक सम्प्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, और लोकतान्त्रिक गणतन्त्र - के वास्तुकार मानें जाते हैं।
वीरपुरुष बलिदानी गोकुला जाट का अद्भुत पराक्रम। BIOGRAPHY

वीरपुरुष बलिदानी गोकुला जाट का अद्भुत पराक्रम। BIOGRAPHY

The heroic hero of the mighty man Golula Jat article in hindi!


वीरपुरुष बलिदानी गोकुला जाट का अद्भुत पराक्रम। The Heroic Hero Of The Mighty Man Golula Jat!

दोस्तों आज में अपने ही निवास क्षेत्र के एक महान शख्स की जीवनी आपके समक्ष रखूँगा। ये ऐसे शख्स भी नहीं हे जिनसे शायद आप परिचित न हो, इनकी वीरता का और बलिदान का उदाहरण और दृश्य आज भी दिल्ली पुरातात्विक और ऐतिहासिक पुस्तकों में देखा जा सकता है। इन्हे इतिहासकार ‘गोकुला’ महान के नाम से परिचित करवाते है। गोकुल सिंह अथवा गोकुला सिनसिनी गाँव के सरदार थे।
गुरु नानक की आध्यात्मिक शिक्षाएं। Spiritual Teachings of Guru Nanak Dev Ji

गुरु नानक की आध्यात्मिक शिक्षाएं। Spiritual Teachings of Guru Nanak Dev Ji

Spiritual Teachings of Guru Nanak Dev Ji in hindi


गुरु नानक की आध्यात्मिक शिक्षाएं। Spiritual Teachings of Guru Nanak Dev Ji In Hindi

दोस्तों आप सभी को गुरु नानक देव जी के 548th जयंती की हार्दिक शुभकामनाऐं। इस उमंग और उल्लास से भरे दिवस पर हम आपके साथ गुरु नानक देव जी के आध्यात्मिक शिक्षाओं से अवगत कराएँगे जिनको सच्चे मन और और विश्वास के साथ अपनाने से आपके जीवन को एक नयी दिशा मिलेगी और आपकी मंजिल भी साफ़ दिखाई देगी। गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं ने हर धर्म, जाति, समाज और वर्ग के लोगों को Inspire किया है। गुरु नानक की शिक्षाएं हिंदू धर्म और इस्लाम के सिद्धांतों में गहराई से जुड़ी हुई हैं। गुरु नानक की शिक्षाओं का स्रोत गुरु ग्रंथ साहिब नामक सिखों की पवित्र ग्रंथ है।

1. ईश्वर एक है:- यह शायद गुरु नानक की सभी शिक्षाओं का आधार है। वह कहता है कि केवल एक ही भगवान है जो सर्वोच्च सत्य और अंतिम वास्तविकता है। वह कोई भय नहीं जानता और उसके पास कोई शत्रु नहीं है वह स्वयं बनाया गया है और समय से परे है। वह खुद को अपने अनुग्रह के माध्यम से निर्मित प्राणियों को प्रकट करता है।

2. अहंकार आध्यात्मिक प्रगति का एक निवारक है:- अहंकार मनुष्यों में एक अत्यधिक खतरनाक घटना है परम वास्तविकता की पूजा में व्यस्त रहें ईश्वर का वचन आपको शुद्ध कर सकता है और आपको आध्यात्मिक उन्नति में स्थानांतरित कर सकता है। मनुष्य के बीच झूठ और पाखंड बहुत प्रचलित हैं जिसे आध्यात्मिक साधना के माध्यम से शुद्ध करना चाहिए।

3. आध्यात्मिक जीवन के तीन मार्गदर्शक सिद्धांत:- 1. वंद छ्छ्ना: हमेशा दूसरों के साथ अपना कुछ भी साथ में साझा करें। जो लोग ज़रूरत में हैं उन्हें सहायता करें 2. किरात कर्ण: ईमानदारी से पैसे कमाएं और कभी भी धोखाधड़ी या शोषण का सहारा नहीं लेना। 3. नाम जपना: हमेशा भगवान का ध्यान करें और निरंतर उसके नाम का जप करके निरंतर भक्ति की साधना करें।

4. सभी इंसान समान हैं:- मनुष्यों की समानता, गुरु नानक की शिक्षाओं की जड़ है। कहीं भी जाति, पंथ या धार्मिक मतभेद नहीं हैं। नस्ल, स्थिति और जाति के आधार पर लोगों से कभी भी भेदभाव न करें। अपने शिक्षण का वर्णन करने के लिए गुरू नानक जी ने एक संस्था शुरू की जिसे 'लंगर' नाम दिया गया जो कि एक साथ बैठकर और बिना किसी भेदभाव और मतभेद के खाने के लिए प्रोत्साहित करती है।

5. स्त्रीत्व की महानता:- पुरुष और महिला समान हैं वास्तव में, महिलाएं और भी सम्मानजनक हैं क्योंकि पुरुष एक औरत से पैदा होता है, वह एक औरत से विवाह करता है; वह स्त्री के साथ दोस्ती करता है; उनकी भविष्य की पीढ़ियां महिलाओं पर निर्भर करती हैं; जब उसकी महिला मर जाती है, तो आदमी दूसरी महिला की तलाश करता है और उसके लिए बाध्य है। औरत ने भी अन्य महिलाएं बनाई हैं और वे दुनिया के महान राजा हैं। महिलाओं के बिना भगवान के अलावा इस धरती पर कोई नहीं होगा इसलिए, उसका सम्मान करें और उसे कभी बुरी न कहें।

6. आदर्श धर्म:- आदर्श धर्म वह है जो अनुष्ठान, जाति व्यवस्था और मूर्ति पूजा का समर्थन नहीं करता है हर जगह सर्वव्यापी देवता को देखें, सभी मनुष्यों से प्रेम करें और हर संभव साधनों में उनकी सेवा करें। धर्म का सार हर समय और सभी जगहों पर लगातार दिव्य ज्योति याद रखने के लिए मनुष्य को जोड़ता है। यह उसका उद्धार करेगा और उसे पूरा करेगा। इसके द्वारा प्रकाशित मार्ग में प्रकाश का पालन करें और मार्ग का अनुसरण करें।

दोस्तों गुरु नानक जी की शिक्षाएं हमें बताती है की ईश्वर, ईश्वर की धारणा से परे है और कोई भी उसके द्वारा तर्कों के कारण उसे उम्र और उम्र के बाद भी प्राप्त नहीं कर सकता। एक गुरु की सहायता के बिना, कोई भी सागर को दूसरे तट तक पार नहीं कर सकता है। उसका अनुग्रह भ्रम को दूर करेगा और दिव्य को अपना मार्ग उजागर करेगा। उम्मीद करते है की हम सब भी अपने जीवन में  😄"गुरु" की भूमिका को समझेंगे और इन सिद्धांतों का पालन करके जीवन को सफल बनाएंगे।


********************************************************
गुरु नानक की आध्यात्मिक शिक्षाएं। पर यह लेख आपको कैसा लगा? कृपया कमेन्ट के माध्यम से बताएँ. लेख में कोई त्रुटि या गलती होने पर हमसे संपर्क करें।
********************************************************
                        
अगर आपके पास भी कोई स्टोरी, आर्टिकल या किसी भी विषय पर जानकारी है तो आप उसे हमारे साथ शेयर करें। पोस्ट के साथ अपने फोटो और ईमेल करें। हमारी ईमेल Id Officialjugnunagar@Gmail.com । अगर हमें आपकी पोस्ट पसंद आई तो हम उसे आपके फोटो और नाम के साथ ज्ञानबाज़ार पर पब्लिश करेंगे।

दोस्तों हमें एक पोस्ट लिखने में काफी मेहनत और समय लगता हैं आप इस पोस्ट के ऊपर अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे।